राजनीति

अब महागठबंधन की धुरी होगी कांग्रेस

बिहार में अब राजद को कांग्रेस के लिए उसकी मनलायक सीटें छोड़नी होंगी। 2019 में सत्ता, मंत्रालय और गठबंधन को लेकर उधेड़बुन में फंसे मौसम वैज्ञानिक पासवान कभी भी सेक्युलर हो सकते हैं। धराशाई सपा और बसपा ने परिणाम आते ही कांग्रेस को बिना शर्त समर्थन का ऐलान करते हुए उत्तरप्रदेश में कांग्रेस को दो […]

राजनीति

नए मुद्दों के साथ होंगे मोदी

राममंदिर, किसानों की कर्ज माफी और सदन में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण के बूते 2019 जितना चाहेंगे नरेंद्र मोदी। अति उत्साहित राहुल लगातार अपनी गलतियों से नमो की सुनामी तो नहीं, लेकिन 2019 में जीत के लायक समर्थन सुनिश्चित करा देंगे। नमो राममंदिर के साथ ही किसानों की कर्ज माफी जैसे बड़े ऐलान कर […]

राजनीति

भाजपा की हार से नमो की गलती शुरू होगी

11 दिसंबर: नया सत्र, पांच राज्यों से नया मैंडेट और भाजपा की नई नीति का दिन होगा। तीन राज्यों में भाजपा की सत्ता गई तो मैंने त्वरित संसद में मंदिर पर अध्यादेश लाने की संभावना होगी। नौकरशाहों की सलाह पर नोटबंदी, जीएसटी और विदेशनीति पर अपनी भद्द पिटवा चुकी भाजपा सरकार की आज मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ […]

राजनीति

सुविधा की राजनीति

अखलाक की हत्या के बाद फौरन पहुंचने वाले राहुल इंस्पेक्टर सुबोध की शहादत पर लापता हैं, लेकिन कांग्रेस कैंडल मार्च की राजनीति कर रही है। योगी आदित्यनाथ की सख्ती गायब है, खुद भी गायब हैं और भाजपा सरकार सुबोध की संदेहास्पद शहादत पर बगले झांक रही है। बिहार में पीके को वीसी, प्रशासन, जदयू की […]

राजनीति

महागठबंधन की अंदरूनी कूटनीति

पांच राज्यों के चुनाव से कांग्रेस को अपनी किस्मत खुलने की उम्मीद है। दस दिसंबर को दिल्ली में होनेवाली विपक्षी पार्टियों की बैठक शीतकालीन सत्र में विपक्ष की रणनीति और पांच राज्यों में चुनाव पर चर्चा की खानापूर्ति के साथ खत्म हो सकती है। तेलंगाना चुनाव की सफलता महागठबंधन की संभावना को मजबूत करेगा, लेकिन विफलता […]

राजनीति

मध्यप्रदेश में भाजपा का विश्वास डोल रहा है?

क्या मध्यप्रदेश में भाजपा का आत्मविश्वास डोल रहा है? मतदान के बाद कांग्रेस मुखर है, लेकिन भाजपा की चुप्पी संदेहास्पद है। अमित शाह ने छत्तीसगढ़ में 55 का आंकड़ा दिया था, मध्यप्रदेश चुनाव के बाद नंबर बताने का दावा हकलाता मिला।

राजनीति

योगी ने हनुमान को दलित नहीं कहा

अब सारे हनुमान मंदिरों की निगरानी दलित मांग रहे हैं, किसान आंदोलन अंततः राजनीति की भेंट चढ़ गया है। क्योंकि हनुमान पर योगी के बयानों को विपक्ष तोड़कर परोसने में सफल रहा है। “वनवासी हैं” के बाद योगी बे पूर्णकालिक विराम लिया है, लेकिन मीडिया के अल्प विराम से वाक्य का अर्थ बदल गया और […]

राजनीति

जनाधार की मरम्मती के लिए मुद्दों को जिंदा रखा जाता है

 ** बी बी रंजन भाजपा सत्ता के स्थायित्व के साथ अयोध्या भूलती है और फिसलन के आसार से राममय हो जाती है। ठीक वैसे ही जैसे दलित दमन, अल्पसंख्यक और पिछड़ों  की झूठी नारेबाजी से कांग्रेस, सपा, बसपा, राजद को राजनैतिक जमीन मिलती है। कोई भी पार्टी मसलों का समाधान नहीं चाहती, इसलिए हर बार […]