Uncategorized

निकम्मी सरकार हटाओ, जंगल राज लाओ का नारा कितना वाजिब है?

  उनकी गलती तो तुम आ जाओ, तुम्हारी गलती तो वो आ जाये और हम इन्हें झेलते रहे।? गजब का समझौता है- नेतृत्व परिवर्तन नहीं, आंदोलन का मिशन तो अदला-बदली है। लाख बुराइयों के बाद खेवनहार यही होंगे। क्या बिहार की राजनीति को नीतीश, लालू, उपेन्द्र, पासवान और मांझी से मुक्ति की जरुरत है? – […]

Uncategorized

लालू राज में नरसंहार, नीतीश राज में बलात्कार

गजव का परिचय है। मुजफ्फरपुर में बालिकाओं के साथ दुष्कर्म की घटना बिहार के इतिहास में सबसे बड़ा कलंक है। निष्पक्ष जाँच हुई तो बात दूर तलाग जायेगी।    पूरी स्थितियों का अध्ययन करें तो सत्ता में हनक रखनेवाले सफेदपोश गुंडों की करतूतों को दबाने के लिए सत्ता, सिस्टम और सरकार बेताब है। देश के […]

Uncategorized

बिहार: पेशोपेश में भाजपा

नीतीश कुमार को लालू प्रसाद से अलग करने नीयत से भाजपा ने लालू प्रसाद के 10-12 साल पुराने मामलों को उधेड़ने के लिए अभियान चलाया। भ्रष्टाचार के नए मामले उठाये गए, लालू का पूरा कुनबा लपेटे में आया और नितीश की राजद से विलगाव की मोरी स्थिति तैयार की गयी। सारे आरोपो का तानाबाना नितीश […]

Uncategorized

कैद में कर्नाटक के एमएलए

अभी भी कर्नाटक में जेडीएस और कांग्रेस के सभी विधायक कड़ी पाबन्दी में होटलों में कैद हैं। परिजनों से बातचीत के दौरान भी पहरेदारी चल रही है: बी बी रंजन जेडीएस और कांग्रेस के अंदरूनी रिश्ते बिलकुल ख़राब हैं, लेकिन सत्ता मोह में गठबंधन मूर्त रूप ले रहा है। कई कांग्रेसी विधायक और सिद्धरमैया तक […]