फ़िल्म

जातिवादी अस्मिता के नाम पर अराजकता का चलन: बी बी रंजन

रानी लक्ष्मी बाई और कुंवर सिंह स्वतंत्रता सेनानी नहीं थे, बल्कि डॉक्ट्रिन ऑफ लैप्स के तहत अपनी छिनती जमींदारी की रक्षा के लिए हथियार उठाना उनकी विवशता थी। वह निजी कारण था, लेकिन तत्कालीन कवियों ने देशवासियों में जोश भरने के लिए उन्हें देशभक्ति के रंग में रंग दिया था। आज इतिहास उन्हें स्वतंत्रस्ता सेनानी […]