सामाजिक

देश में हताशा है, आत्महत्या की प्रवृति बढ़ी है

हालिया नेशनल हेल्थ प्रोफाइल से भारत में स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली की रिपोर्ट से पता चला है कि स्वास्थ्य सेवा हमारी सरकारों की प्राथमिकता नहीं हैं। वर्षों से डॉक्टरों की कमी है। सार्वजनिक अस्पतालों का बुरा हाल है। मनोरोग फैल रहा है और 2000-2015 के बीच भारत में आत्महत्या करनेवालों की संख्या में 23 प्रतिशत […]

सामाजिक

सोनाडीह गैंग रेप पर दलित ठेकेदारों की चुप्पी

दलित गुंडों द्वारा सोनाडीह में नारी की अस्मत की लूट पर चुप हैं दलित राजनीति के ठेकेदार श्याम, उदय, रमई और जीतन। सोनाडीह में चिकित्सक की पत्नी से गैंगरेप और बेटी से बदसलूकी के मामले में दलित गुंडों के नाम आये हैं। सोनाडीह क्षेत्र के दलित गुंडों की गुंडागर्दी का इतिहास पुराना है, लेकिन शोषण […]

सामाजिक

नारी सशक्तिकरण या बलात्कार का दौड़: बी बी रंजन

न्यूयॉर्क और लन्दन के समाचारपत्रों के संपादकीय कॉलम में भारत की निंदा हुई है। इंटरनेशनल मॉनिटर फंड के अध्यक्ष ने भारत में महिलाओं की असुरक्षित स्थिति की निंदा की है। सुश्री स्वाति मानीवाल बलात्कारियों को कठोरतम दण्ड देने की मांग को लेकर अनशन पर हैं। उनकी मांग है कि बलात्कार के मामलों को छह माह […]

सामाजिक

नेताजी! अपनी कलाबाजी हमें भी सिखलाइये, लेकिन पहले एक सच बताइए: बी बी रंजन

मॉल आपका, पंप आपका, गैस की एजेंसी आपकी, रियल एस्टेट आपका, फार्म हाउस आपका, कंपनी आपकी, लेकिन जनता का? : बी बी रंजन आप जनसेवा की दावेदारी के बीच ऐसे अज्ञात कारोबारी है कि आपकी संपत्ति में भारी इजाफा हो जाता है। यह समाजसेवा की कौन-सी विधा है, विकास की कैसी इबादत है? मुझे लगता […]

सामाजिक

कीटनाशक से जारी मौत सरकार की शिथिलता का परिणाम: बी बी रंजन

कीटनाशकों के प्रयोग से मरने लगे किसान: बी बी रंजन सन  2015 में कीटनाशकों के प्रयोग से देश में 7060 किसानों की मौत हुई है। एक वर्ष में अकेले महाराष्ट्र में कीटनाशक के प्रयोव से 45 किसान मौत की गोद में समा गए। यह डेटा नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो का है। ऊंची मात्रा में कीटनाशक […]