Uncategorized

18 दिसंबर को कांग्रेसी ज्वार के पराभव के साथ मोदी की सुनामी निकलेगी

नरेन्द्र मोदी गुजरातियों की आन, बान और शान हैं कांग्रेस में जब नया अध्यक्ष बनता है तो पार्टी टूटती है हार्दिक, अल्पेश, जिग्नेश की उछलकूद और दूर बैठे लालू, अखिलेश और ममता के बयानों से उत्साहित राहुल के दिल में उठ रहा ज्वार-भाटा मतगणना के साथ सपाट होगा। अमित शाह, आनंदीबेन पटेल और विजय रूपानी […]

Uncategorized

मोदी एक बार फिर बिग बॉस

राहुल की लीडरशीप स्थापित, राजनीति में कांग्रेस की पुनर्वापसी और परिणाम के उपरांत हार्दिक का संभावित पराभव  मतदान का गिरता प्रतिशत गुजरात में मोदी की साख पर मुहर लगा गया है, विजय रूपाणी भी चुनाव जीत रहे हैं। गुजरात में भाजपा की जीत प्रायः सुनिश्चित लगती है। संघर्ष कड़ा है, राहुल की लीडरशीप में जान […]

Uncategorized

सवर्णों के मसले पर सारे राजनेताओं की आँखें बंद हैं

मानों, ऊधर देखना मना है :बी. बी. रंजन विवेकशील होने का दंभ पालनेवाले सवर्णों की समझ को लकवा मार गया है। सेकुलरिज्म का राग अलापनेवाले इन सवर्णों को बेवस मतदाता भर मान लिया गया है। दलित लाइन पर चलनेवाली भाजपा पिछड़ों के लिए चिंतित है, लेकिन सवर्ण हासिये पर हैं सवर्णों की मृत जागरूकता और […]

राजनीती

गुजरात: ऐने मौके पर रूपाणी को किनारा कर पाटीदार नितिन घोषित हो सकते हैं गुजरात में मुख्यमंत्री का चेहरा

प्रचार बंद होने से पहले पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल के खिलाफ मोर्चा खोलनेवाले पाटीदार उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल को मुख्यमंत्री का उम्मीदवार घोषित किया जा सकता है। 29 नवंबर को प्रधानमंत्री की रैली से थोड़ी ही दूर पर हार्दिक पटेल की रैली में जुटी भारी भीड़ ने भाजपा के आत्मविश्वास को हिलाकर रख दिया […]

राजनीती

यूपी निकाय चुनाव में भाजपा की भारी जीत नरेन्द्र मोदी के विजन, विकास-नीति जीएसटी और नोटबंदी जैसे साहसिक निर्णयों पर मुहर : बी. बी. रंजन

मोदी की नीतियों को ललकारने वाले राहुल गाँधी के पैतृक राज्य में भाजपा की जीत के गंभीर मायने हैं उत्तरप्रदेश निकाय चुनाव में भाजपा की भारी जीत नरेन्द्र मोदी के विजन, उनकी विकास-नीति, नोटबंदी और जीएसटी जैसे साहसिक निर्णयों पर मुहर लगा गयी है। गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा को चित्त करने का दंभ भरनेवाले […]

राजनीती

सोमनाथ की घटना हिंदू राजनीति की मूर्खता की हद

हद कर दी आपने     गैर-हिंदू के रजिस्टर में अहमद पटेल के साथ राहुल गांधी का नाम लिख देने से बवाल मचा है। स्वतन्त्र भारत की बागडोर हिन्दू प्रधानमंत्री को सौंपने की गांधी-नेहरू की सोच के पीछे आजादी को सच्चे अर्थों में प्राप्त करने की मानसिकता थी। इस उद्देश्य से ही जिन्ना को हासिये […]

Uncategorized

तेजप्रताप की लालू शैली अर्थात 90′ के दशक में बिहार

संभवतः नब्बे के दशक में बिहार को वापस लाने की जिम्मेदारी लालू प्रसाद ने तेजप्रताप को सौपी है। लालू प्रसाद अपने विरोरोधियों को अपने भाषण से डरा-धमकाकर  अपनी राजनीति मजबूत करते थे। अब तेज प्रताप यादव को विरासत मिली है और लालू प्रसाद उनका समर्थन करते हैं। तेज प्रताप बिना किसी खास संदर्भ के सूमो और […]

Uncategorized

बिहार में शराब माफिया का बढ़ता मनोबल

सुशासन को तमाचा गरीबों के तथाकथित मसीहा लालू प्रसाद के लोकतांत्रिक उत्तराधिकारी तेजप्रताप की ‘छाल उधेड़ने’ की अमर्यादित भाषा में समस्तीपुर में शराब माफियाओं की ओर से चलनेवाली एके- 47 की गोली से पुलिस जवान अनिल कुमार की मौत शराबबंदी की एक बानगी है, समस्तीपुर में शराब माफियाओं के खिलाफ अनिल कुमार की मौत सुशासन […]

Uncategorized

गुजरात: भाजपा को लाभ पहुँचाने की मुहिम में जदयू

बिहार में भाजपा के साथ मिल कर सरकार चला रही जनता दल यू ने गुजरात में एक सौ सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। कुछ दिन पहले तक कहा जा रहा था कि पार्टी प्रतीकात्मक रूप से पांच या दस सीटों पर चुनाव लड़ेगी। यह भी कहा जा रहा था कि बिहार के […]

Uncategorized

कांग्रेस से हमेशा दूरी रखनेवाले पाटीदार अब भाजपा के लिए समस्या

1980 के दशक में  तत्कालीन मुख्यमंत्री माधव सिंह सोलंकी ने क्षत्रिय, हरिजन, आदिवासी और मुसलमानों को मिलाकर खाम नामक एक मज़बूत सामाजिक गठजोड़ बनाया था। इस गठजोड़ से पाटीदारों को दूर रखा गया था और प्रारम्भ से ही कांग्रेस से एक हद तक दूरी बनाकर चलनेवाले पाटीदार खाम के गठन के बाद कांग्रेस के खिलाफ […]