रबर स्टाम्प नहीं बल्कि दमदार होगा राष्ट्रपति: बी. बी. रंजन

NEWS 0 Comment

अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, वेंकैया नायडू और थावरचंद गहलोत सशक्त दावेदार. रतन टाटा, अमिताभ बच्चन और मोहन भागवत का नाम खारिज. 



सुमित्रा महाजन, द्रौपदी मुर्मु और एससी जमीर का नाम भी चल रहा ही, जबकि सीपी ठाकुर और हुकुमदेव नारायण यादव के नाम भी उप राष्ट्रपति पद के लिए उछाले जा रहे हैं। 


Image result for arun jetleyराष्ट्रपति चुनाव पर भाजपा 15 जून के आसपास पार्टी के अंदर और सहयोगी दलों से बात करेगी, फिर औपचारिकता के लिए विपक्षी पार्टियों से बात की जाएगी। इस बार संगठन और सरकार में काम कर चुके किसी पूर्ण राजनीतिज्ञ को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति का सेहरा बांधने की कवायद जारी है।  राष्ट्रपति पद के लिए आम सहमति बनने की संभावना खत्म हो गई है। भाजपा के पास चुनाव जीतने के लिए पूर्ण बहुमत है, इसलिए आम राय बनाने की मजबूरी नहीं है।
Image result for वेंकैया नायडूविपक्ष की काफी भागदौड़ के बावजूद भी भाजपा ने विपक्ष से एक बार भी संपर्क नहीं किया है। भाजपा के सूत्रों की मानें तो पार्टी नाम तय कर विपक्ष को बता देगी और उस पर सहमति की कोशिश करेगी।
भाजपा रतन टाटा या अमिताभ बच्चन जैसे गैर राजनीतिक व्यक्ति का नाम खारिज कर चुकी है। मोहन भागवत का नाम भी प्राय खारिज हो चूका है और इतने विशिष्ट पद का त्याग कर भागवत भी राष्ट्रपति का पद स्वीकार नहीं करेंगे। मुताबिक अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, वेंकैया नायडू और थावरचंद गहलोत के नामों पर गंभीर रूप से चर्चा हो रही है, लेकिन लालकृष्ण आडवाणी Image result for rhawarchandra gahalot ministerऔर मुरली मनोहर जोशी के नाम भी पूरी तरह खारिज नहीं किये गए हैं। सुमित्रा महाजन, द्रौपदी मुर्मु और एससी जमीर का नाम भी चल रहा ही, जबकि सीपी ठाकुर और हुकुमदेव नारायण यादव के नाम भी उप राष्ट्रपति पद के लिए उछाले जा रहे हैं। 
विपक्ष राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति पद का चुनाव महज प्रतीकात्मक रूप से लडेगा। विपक्ष भाजपा की ओर से उम्मीदवार के नाम के ऐलान के बाद अपना प्रत्याशी घोषित करेगा। भाजपा के दलित, आदिवासी या महिला उम्मीदवार के जबाब में विपक्ष भी सदृश्य उम्मीदवार ही देगा। नहीं है।

Leave a comment

Search

फ्यूरियस इण्डिया

Back to Top