नीतीश कुमार: मृगमरीचिका

NEWS 0 Comment

मृगमरीचिका

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बहरहाल २०१९ में प्रधानमंत्री का चेहरा बनने की भरपूर कोशिश कर रहे है, लेकिन संपूर्ण स्थिति के आकलन के बाद उनका यह सपना मृगमरीचिका प्रतीत होता. मृग को पानी के बिना ही रेगिस्तान में जल का आभास होता है और वह दौर लगाकर थक जाती है. नीतीश कुमार राज्य की सत्ता पाने के लिए कभी भाजपा, कभी लालू प्रसाद और कांग्रेस की शरण में जाते रहे हैं, विचारों की तिलांजलि देते रहे हैं. दरअसल कई क्षेत्रीय क्षत्रप अपने राज्यों में मजबूत स्थिति में हैं और दूसरे राज्यों में भी अपनी पकड़ बना ली है. कई प्रदेशों के मुखिया को अपने राज्य में भरी समर्थन प्राप्त है. निथ्श कुमार प्रारभ से ही वैशाखी पर सत्ता पाते रहे हैं. इन्हें अपने राज्य में भी भरी समर्थन प्राप्त नहीं है. ऐसी स्थिति में नीतीश कुमार के प्रधानमंत्री बनने का सपना म्रिग्मारिशिका लगती है. समर्थन के तलाश में नीतीश चाहे हर राज्य की जीतनी दौर लगा लें, सफलता उनके पक्ष में नहीं दिखाती. अलबत्ता लालू प्रसाद की शैली और नीतीश कुमार के समर्पण से ऐसा लगता है की २०२० के विधानसभा चुनाव में लालू-नीतीश गठबंधन टूटेगा अन्यथा निथ्श कुमार को मुख्यमंत्री के पद से भी हटना होगा. 

Leave a comment

Search

फ्यूरियस इण्डिया

Back to Top