Uncategorized

बिहार में शराब माफिया का बढ़ता मनोबल

सुशासन को तमाचा

Image may contain: 1 person

Image may contain: text

गरीबों के तथाकथित मसीहा लालू प्रसाद के लोकतांत्रिक उत्तराधिकारी तेजप्रताप की ‘छाल उधेड़ने’ की अमर्यादित भाषा में समस्तीपुर में शराब माफियाओं की ओर से चलनेवाली एके- 47 की गोली से पुलिस जवान अनिल कुमार की मौत शराबबंदी की एक बानगी है, समस्तीपुर में शराब माफियाओं के खिलाफ अनिल कुमार की मौत सुशासन का नमूना है या शराब माफियाओ और अपराधियों के बुलंद हौसले का एलान, यह एक यक्ष प्रश्न है.

समस्तीपुर में शराब के खिलाफ अभियान चलाने के दौरान अपराधियों की गली से शहीद जहानाबाद के घोसी क्षेत्र के पिताम्बरपुर के हवलदार अनिल कुमार के आलावा एक अन्य पुलिसकर्मी भी घायल है और अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *