Uncategorized

पालीगंज: क्वेक्स के हाथों हुई थी महिला की मौत,

No automatic alt text available.पालीगंज के एम कुमार और दुल्हिनबाजार केें मगध नर्सिंग होम में झोला छाप चिकित्सक (क्वेक्स) के हाथों हुई थी महिला की मौत, स्थानीय प्रशासन की भूमिका संदेहास्पद। लेकिन भोज-भात में शरीक होनेवाले स्थानीय जनसेवक तो बोल सकते थे। शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे बुनियादी जनसमस्याओं पर उनकी चिर चुप्पी क्यों है: बी. बी. रंजन

पाNo automatic alt text available.लीगंज के पिपरदाहाँ और दुल्हिनबाजार के बड़की खड़वां गाँव की महिला की मौत झोला छाप चिकत्सकों के हाथों हुई थी। इन दोनों मामलों में क्वेक्स ने महिला का ऑपरेशन किया था और स्थिति बिगड़ने पर बदनामी से बचने के लिए आनन-फानन में उसे अन्यत्र अस्पताल में रेफर कर दिया गया था। मामले में स्थानीय पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *