राजनीति

झारखंड: राजद भी मांग रहा मंत्रालय

तेजस्वी झारखंड में मांग रहे मंत्रालय, लेकिन मिल रहा है बोर्ड या निगम के अध्यक्ष का पद।

­

विधानसभा की 16 सीटें जीतने वाली कांग्रेस के रामेश्वर उरांव को विधानसभा अध्यक्ष की जिम्मेदारी के अतिरिक्त पांच मंत्रालय के आसार हैं। जेएमएम मुख्यमंत्री समेत छह मंत्रालय देख सकता है। राजद के एक मात्र विधायक को भी मंत्री पद मिल सकता है, लेकिन कोशिश बोर्ड या निगम के अध्यक्ष पद तक निपटाने की है।

मंत्रालय गठन में जातीय और क्षेत्रीय समीकरण के आधार पर कांग्रेस की ओर से रामेश्वर उरांव, राजेंद्र सिंह, अंबा प्रसाद, आलमगीर आलम आदि के नामों की चर्चा है। झारखंड मुक्ति मोर्चा से मथुरा महतो, स्टीफन मरांडी, चंपई सोरेन, मुन्नु ठाकुर, हाजी हुसैन अंसारी, आदि के नामों की चर्चा है। भाजपा से राजद में आए और इस बार राजद के इकलौते विधायक सत्यानंद भोक्ता को किसी बोर्ड या निगम का अध्यक्ष बनाने की बात हो रही है।

मंत्रिपद के लिए वरिष्ठ नेता चंपई सोरेन और महिला नेत्री जोबा मांझी की दावेदारी बनती है। समीर महंती, नलिन सोरेन और स्टीफन मरांडी को भी जगह मिलने की संभावना है। उत्तरी छोटा नागपुर प्रमंडल से मथुरा महतो और दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल से जीगा होरो को भी मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है।

कांग्रेस पार्टी जमशेदपुर पश्चिम से जीतने वाले बन्ना गुप्ता, पाकुड़ से चुनाव जीतने वाले आलमगीर आलम, जामताड़ा से चुनाव जीतने वाले इरफान अंसारी, मनिका से जीतने वाले रामचंद्र सिंह, बेरमो से चुनाव जीतने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजेंद्र सिंह के अलावा बड़कागांव से चुनाव जीतने वाली सबसे कम उम्र के विधायक अंबा प्रसाद और रामगढ़ से चुनाव जीतने वालीं ममता देवी इस रेस में शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *