राजनीति

उद्धव के हवाले महाराष्ट्र, लेकिन अजित अभी करेंगे इंतजार

 

जन-गण-मन की धुन के साथ उद्धव ठाकरे मंत्रिमंडल का शपथग्रहण सम्पन्न हुआ। गठबन्धन के तीनों दलों से दो-दो मंत्री बनाये गए और शरद की सुनियोजित राजनीति के तहत अजित पवार को कुछ दिनों के लिए उपमुख्यमंत्री बनने से रोक दिया गया है।
शिवसेना कोटे से मंत्री बने एकनाथ शिंदे का बाहुबली स्वरूप है। उन्होंने विधायकों को एकजुट और कैद रखने में अपनी भूमिका निभाई है। उन्होंने बाल ठाकरे की दौड़ में बाहुबली की भूमिका निभानेवाले नारायण राणे का स्थान लिया है।
सुभाष देसाई एक सुसभ्य औऱ सजग राजनेता हैं। इन्होंने राज ठाकरे के विरोधी तेवर के दौड़ में उद्धव को राजनीति सिखलाया और आगे भी उनके कार्यालय को सुचारू तरीके से चलाते रहेंगे।
जयंत पाटिल ने शरद पवार के निर्देश पर सबसे पहले बाल ठाकरे के खिलाफ बगावत कर 12 विधायकों के साथ कांग्रेस में शामिल हुए और फिर एनसीपी में आये। बहरहाल उन्होंने छगन भुजबल के सहयोग से अजित को पार्टी में लौटाने में कामयाबी हासिल की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *